SOLO TRAVELLER – सोलो ट्रैवलर की रोमांचकारी दुनिया

solo traveller

सोलो ट्रैवलर (Solo Traveller) अर्थात अकेले घूमने वाले यात्री, प्रत्येक व्यक्ति यात्रा से प्यार करता है और ज़िंदगी की भागदौड़ व कश्मकश से दूर कुछ पल चैन से बिताना चाहता है जोकि उसी जगह पर रहते हुए मुमकिन नहीं लगते हैं।वह घर परिवार से दूर व दुनिया की नज़रों से ओझल हो जाना चाहता है।वह अकेले रहकर ही लोगों और दुनिया को नज़दीक से जानना चाहता है।सोलो ट्रैवलर के रूप में मिले जीवन के यह बहुमूल्य अनुभव उसकी आने वाली ज़िंदगी का कायाकल्प कर सकते हैं और उसके जीवन को एक नई दिशा प्रदान कर उसे अपने हिसाब से ढालने में मदद कर सकते हैं।

सोलो ट्रैवलर (Solo Traveller) की जीवन यात्रा 

अगर आप दुनिया को और नज़दीक से जानना चाहते हैं तो सोलो ट्रैवल से बेहतर विकल्प कोई और नहीं हो सकता है। यह रोमांचकारी यात्रा, दुनिया को निकट से जानने व परखने का बेमिसाल अनुभव प्रदान करती है।एक समूह के मुक़ाबले आप अपनी योजनाओं को ख़ुद बना सकते हैं। सोलो ट्रैवल आपको स्वतंत्रता व मज़बूती प्रदान करती है। आप जहाँ जाना चाहें जा सकते हैं, जहाँ रुकना चाहें रुक सकते हैं, और जहाँ खाना चाहें खा सकते हैं। ऐसी आज़ादी आपको एक समूह में कभी नहीं मिल सकती है। घूमने से नये लोगों से संवाद स्थापित होता है और विभिन्न संस्कृतियों को जानने व समझने का मौक़ा मिलता है।
विभिन्न मीडिया चैनल व समाचारों की व्यक्तिगत राय को दरकिनार कर दुनिया को निकट से जानने का यह सुनहरी मौक़ा है। दुनिया बहुत बड़ी है और यहाँ बुरे लोगों के अलावा अच्छे लोग भी बहुतायत में पाये जाते हैं। दूसरों को समझने व मदद करने करने वाले लोग आपको दिल से प्रभावित करते हैं।आप सफ़र में ऐसे महान व्यक्तियों से मिलेंगे जिन्हें कोई नहीं जानता है,क्योंकि महानता प्रसिध्द होने में नहीं बल्कि दयालुता व मदद करने में छुपी होती है।असल में दुनिया उतनी भी बुरी नहीं है,जितनी हमें दिखाई जाती है।

सोलो ट्रैवल की शुरुआत कैसे करें

यदि आप दुनियाभर के दर्शनीय स्थलों को देखने के लिए लालायित हैं या बर्फ़ से लदे पहाड़, गगनचुंबी इमारतें और प्रकृति के शानदार नज़ारे देखने के लिये मरे जा रहें हैं तो रुकिए, पहले शुरुआत हम छोटी व जानी मानी लोकेशन से करेंगे।जहाँ आपको रहने, खाने-पीने व घूमने की तमाम सुविधाएँ उपलब्ध हों। रहने के लिये सस्ते व साफ़ होटल, आवागमन के लिये पब्लिक ट्रांसपोर्ट, घूमने के लिये बेहतर माहौल व सुरक्षा के पर्याप्त साधन,आपकी यात्रा को चार चाँद लगा देंगे। ऐसा बेहतर व ख़ुशनुमा माहौल आपको दोबारा अकेले घूमने के लिये प्रेरित करेगा।एक बार की सफल यात्रा के बाद आपमें दोबारा घूमने का जुनून पैदा होगा और आप इस बार पहले से ज्यादा मानसिक रूप से सक्षम व चुनौतियों का मुक़ाबला करने वाले इंसान सिद्ध होंगे।

सोलो ट्रैवलर के लिये कुछ महत्वपूर्ण हिदायतें

अपने पहले अकेले सफ़र को सुविधाजनक व शानदार के लिये आपको सफ़र से पहले कई अहम बातों का ख़याल रखना पड़ता है।उस जगह के बारे में आपको पूरी जानकारी होनी चाहिये,जहाँ आप जाना चाहते हैं। वहाँ की संस्कृति, मौसम, वहाँ पहुँचने के रास्ते, आसपास के होटल व अन्य रहने की सुविधाएँ व मोबाइल कवरेज की जानकारी से आप भली भाँति वाक़िफ़ होने चाहिये। इसके लिये गूगल की मदद ली जा सकती है। ऐसी जगह पर पहुँचने से पूर्व ही आपका होटल या रहने का अन्य स्थान पूर्व में ही बुक होना चाहिये। यदि आप विदेश यात्रा पर जा रहे हैं तो वीज़ा का पहले से इंतज़ाम कर लें।ऐसे देश जो वीज़ा ऑन अराइवल की सुविधा प्रदान करते हैं,वहाँ आपको पहले जाना चाहिये।

हल्के व कम से कम लगेज का इस्तेमाल करें क्योंकि आपको कई बार पैदल भी चलना पड़ सकता है।अपने साथ फ़र्स्ट ऐड किट व सेफ़्टी किट ज़रूर लेकर जायें, जिनमें ज़रूरी दवाइयों के साथ साथ पेपर स्प्रे व एक छोटा चाक़ू शामिल हो क्योंकि सभी दिन परिस्थियाँ एक जैसी नहीं होती हैं। सफ़र में कैश की जगह क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें।कुछ कैश भी साथ रखें, क्योंकि कई बार नेटवर्क की दिक़्क़त से या अनजानी जगहों पर क्रेडिट कार्ड काम नहीं करते हैं। स्थानीय लोगों को समझने व रास्ते के दिशा निर्देशों को पढ़ने के लिये गूगल ट्रान्सलेटगूगल लेंस ऐप अपने मोबाइल में ज़रूर डाउनलोड कर लें।इसके अलावा भी कुछ ऐसे उपाय हैं जिनका आप सही से पालन करेंगे तो अपनी यात्रा में बहुत हद तक सुरक्षित महसूस करेंगे।

solo traveller

सोलो ट्रैवल का मानव जीवन में महत्व

सोलो ट्रैवलर के रूप में आपकी पहली यात्रा आपको एक अलग मुक़ाम पर पहुँचा देगी।आप इस यात्रा में अनेक ग़लतियाँ भी करेंगे लेकिन इन्ही ग़लतियों से सीखकर ही आप आगे बढ़ सकते हैं।आप पायेंगे की आपने अपनी पहली यात्रा का फ़ैसला लेने में बहुत देर कर दी है और जीवन की सच्चाइयों को जानने के लिये आपने व्यर्थ ही इतने साल बर्बाद कर दिये हैं।जीवन की इस महत्वपूर्ण यात्रा से आप अपने अन्दर के डर को मिटाकर एक मज़बूत व बेहतर इन्सान बन कर उभरेंगे। जीवन में एक बार सभी को एकल यात्रा अवश्य करनी चाहिये क्योंकि यह हमें अपने दायरे से बाहर निकलकर जीवन जीना सिखाती है। धन्यवाद व जय हिन्द

2 Replies to “SOLO TRAVELLER – सोलो ट्रैवलर की रोमांचकारी दुनिया”

Leave a Reply