SMILE – मुस्कराइए, ज़िन्दगी बहुत हसीन है

SMILE – मुस्कराइए, ज़िन्दगी बहुत हसीन है

मुस्कान ईश्वर का दिया हुआ वह अनमोल उपहार है जो बिना कर्म किये ही आपको सबका प्रिय बना सकता है बशर्ते आपके पास मुस्कुराने की असीम कला हो।जब हम मुस्कुराकर लोगों से मिलते हैं तो सामने वाला इन्सान भी उसी गर्मजोशी से ख़ुशी व्यक्त करता है।अगर मुस्कुराने का जवाब मुस्कराहट से मिलता है तो किसी भी कार्य के होने की सम्भावना 50% तक बढ़ जाती है।मुस्कराहट आपसी सदभाव बनाने की पहली सीढ़ी है। सच्ची मुस्कराहट का हमारे विचारों,हमारी भावनाओं और हमारे कर्मों से गहरा नाता है।एक सच्ची मुस्कान जहाँ दिलों को चीर कर सीधा दिल को ठंडक पहुँचाती है वहीं एक कुटिल मुस्कान हमारे कुत्सित इरादों व बुरे विचारों का प्रतिनिधित्व करती है।अतः अपनी मुस्कान को खुले दिल से व ईमानदारी से प्रदर्शित करें।यही मुस्कान मनुष्यता की पहचान है और आपसी सम्बन्धों का ताना-बाना है।

मुस्कुराने के हैं असीम फ़ायदे

मुस्कराहट काँटों से भरी बगिया में खिले फूल की तरह होती है।एक अदद मुस्कराहट से सारी ज़िन्दगी के कष्ट तो दूर नहीं होते हैं किन्तु दो पल की मुस्कराहट बोझिल व तनाव भरे वातावरण को हल्का व ख़ुशनुमा बना देती है।एक छोटी सी मुस्कान बहुत सी ग़लतफ़हमियों को दूर कर बिगड़े कामों को आसानी से बना सकती है।मुस्कान सिर्फ़ दिल को ही सुकून नहीं देती है बल्कि इसका सेहत से भी सीधा सम्बन्ध है।विभिन्न वैज्ञानिक शोधों से मुस्कान के असीमित लाभ ज़ाहिर हुए हैं।मात्र दो इंच की मुस्कान से दर्जनों नसों का व्यायाम हो जाता है।लगातार मुस्कुराते रहने से चेहरे की सभी माँसपेशियों में खिंचाव आता है,जिससे चेहरे पर झुर्रियाँ नहीं पढ़ती हैं और चेहरा सदा खिला खिला रहता है।मुस्कराकर शुरू की गयी बातचीत अनजान व अजनबी चेहरों को भी सुनने को मजबूर कर देती है।

विपरीत परिस्थितियों में कैसे मुस्कराएँ

जब जीवन में दुःख, तकलीफ़ व अभावों का समावेश हो तो चेहरे पर मुस्कान कैसे आए, इस बात का जवाब सवाल में ही छुपा हुआ है।दुःख, तनाव व घुटन तो ज़िन्दगी का हिस्सा है।इनके बग़ैर जीवन की कल्पना ही बेमानी है।इनको अपने जीवन में हावी होने देना व अपने आपको निराश महसूस करना भी ज़िन्दगी नहीं है।सकारात्मक रूप से अपने विचारों को जीवन में ढाल कर व विपरीत परिस्थितियों में मुस्कुराकर ही जीवन में आने वाली मुश्किलों का बख़ूबी सामना किया जा सकता है।लोग किसी दुखी या गमगीन चेहरे वाले व्यक्ति की तुलना में मुस्कुराने वाले व्यक्ति की और अधिकाधिक आकर्षित होते हैं।यही जीवन की सच्चाई है।जीवन की नैय्या को हम हँसी,ख़ुशी या मुस्कुराकर पार लगाते हैं या दुःख के भँवर में डूब कर, यह हमारे अपने हाथों में है।दुखों में मुस्कुराने की कला ही हमें बहुत आगे तक पहुँचा सकती है।

मुस्कराहट बाँटने से बढ़ती है

दुनिया के हर क्षेत्र में किसी भी पेशेवर के लिये मुस्कराहट बहुत मायने रखती है।इसके असीम लाभ लोगों को ज़बरदस्त फ़ायदा पहुँचा सकते हैं।अगर आप एक अध्यापक हैं तो आपकी एक मुस्कान बच्चों को सुकून व मुस्कान से तरबतर कर देगी और अगर आप डॉक्टर हैं तो आपकी मुस्कराहट मरीज़ के हौसलों को बढ़ाकर उसकी बीमारी को आधा कर देगी।जो काम दवाइयाँ नहीं कर सकती,वह काम केवल दो पल के मुस्कुराने से हो जाता है।यही मुस्कुराने की शक्ति है।अगर आपकी मुस्कराहट किसी की ख़ुशी का कारण बनती है तो इससे बेहतर कोई कार्य नहीं है।आपकी एक हल्की सी मुस्कान किसी का भी दिन बना सकती है और उसके हौसलों को एक नई उड़ान दे सकती है।इसलिए स्वयं भी मुस्कराइए और दूसरों के भी मुस्कुराने का कारण बनिये।धन्यवाद व जय हिन्द

One thought on “SMILE – मुस्कराइए, ज़िन्दगी बहुत हसीन है

Leave a Reply

%d bloggers like this: