OTT –  ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

OTT – ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

आज दुनिया एक वैश्विक गाँव ( global village ) के रूप में काम कर रही है।दुनिया के किसी सुदूर देश में घटी घटना कुछ ही पलों में पूरी दुनिया में फैल जाती है।और जब बात लोगों के मनोरंजन से जुड़ी हो तो यह पूरी दुनिया इसे अपनाने को ललायित रहती है। OTT यानि OVER THE TOP एक तकनीक जिसने पूरी दुनिया में मनोरंजन के मायने बदल कर रख दिये हैं।OTT एक स्ट्रीमिंग सर्विस है,जो इंटरनेट के माध्यम से दर्शकों को सीधे पेश की जाती है।दूसरे शब्दों में OTT एक चैनल है,जिसके माध्यम से वीडियो सामग्री अंतिम उपयोगकर्ता तक पहुँचाई जाती है।OTT सामग्री को कई उपकरणो पर देखा जा सकता है।जिनमें कम्प्यूटर, लैपटाप, टेबलेट व मोबाईल फ़ोन प्रमुख हैं।

OTT -  ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

केबल टीवी व डीटीएच प्लेटफ़ार्म द्वारा वर्षों से दिखाये जा रहे घिसे पिटे कंटेंट व सास बहू सीरियल के ड्रामे से परेशान भारत की जनता के लिये OTT प्लेटफ़ार्म एक उम्मीद की नयी किरण लेकर आयें हैं।फ़ुल एचडी क्वालिटी से लैस, दुनिया भर से नवीनतम कंटेंट, व अपने मनपसंद प्रोग्राम को कहीं भी व किसी भी वक़्त देखने की आज़ादी ने भारतीयों को एक नया मंच प्रदान किया है।इस डिजिटल आज़ादी का फ़ायदा सबसे ज्यादा भारत के युवा वर्ग ने उठाया है।भारत में OTT प्लेटफ़ार्म की शुरुआत यूँ तो 2008 में ही हो गयी थी लेकिन धीमी 2G सर्विस,कंटेंट की कमी व SD क्वालिटी के चलते यह सेवा लोगों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पायी। सन 2015 में भारत में होटस्टार व नेटफ्लिक्स के आगमन ने पूरा परिद्र्श्य ही बदल कर रख दिया।और 2016 में अमेजन प्राईम के आगमन ने मानों भारतीय दर्शकों को मुँह माँगी मुराद दे दी हो।इन नेटवर्क पर हज़ारों की संख्या में मूवीज़, वेब सीरीज़,सोंग्स,टीवी सीरियल,स्पोर्ट्स,हालीवुड,बालीवुड व क्षेत्रीय फ़िल्मों का ख़ज़ाना है।आप अपनी मनपसंद फ़िल्म या प्रोग्राम को अपने चुने हुए समय पर,अपनी मनपसंद भाषा में या सब टाईटल के साथ देख सकते हैं।इससे पहले कभी इतनी आज़ादी नहीं रही।लेकिन तब भारत में डेटा की भारी लागत इनके लिए बड़ी समस्या थी।जियो ने 2016 में अपने आगमन से बड़ी बड़ी स्थापित कम्पनियों को हिला डाला। जियो की इस डेटा क्रांति से पूरी दुनिया में भारत का डंका बजने लगा। दुनिया में सबसे सस्ता डेटा लांच कर जियो ने इसे आम भारतीय की हद में पहुँचा दिया और करोड़ो भारतीय इसका लाभ उठाने लगे। इसका OTT कम्पनियों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा और उनकी डिमांड बड़ी तेज़ी से बढ़ने लगी।आज भारत में 40 से अधिक कंपनिया मीडिया स्ट्रीमिंग सेवाएँ प्रदान कर रही है और इनकी संख्या में निरंतर ईजाफा हो रहा है।आईये कुछ मुख्य कम्पनियों के बारे में जानते हैं।

OTT -  ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

होटस्टार भारत में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला OTT प्लेटफ़ार्म है।जिसके पास लगभग 150 मिलियन से ज्यादा सक्रिय सब्सक्राईबर हैं।होटस्टार पर 1 लाख घण्टे से भी ज्यादा का कंटेंट उपलब्ध है।होटस्टार पर दर्शकों का 80% हिस्सा खेल कार्यक्रमों व फ़िल्मों से आता है।होटस्टार को लोकप्रिय बनाने में IPL का बहुत बडा हाथ है। होटस्टार पर फ़्री में बहुत सारा कंटेंट उपलब्ध है और इनके प्लान भी दूसरों के मुक़ाबले बहुत सस्ते हैं।बाज़ार में उपलब्ध अन्य प्रतियोगियों से मुक़ाबला करने के लिये होटस्टार ने अपनी मूल कम्पनी Disney से हाथ मिलाया है ताकि दर्शकों को अच्छे कंटेंट से लुभाया जा सके।आज होटस्टार भारत में 40% से ज्यादा हिस्सेदारी लेकर शीर्ष पर बना हुआ है।

OTT -  ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

नेटफ्लिक्स को भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में सर्वश्रेस्ठ OTT प्लेटफ़ार्म माना जाता है।इसका मुख्य कारण वर्षों के की गयी कड़ी मेहनत है जिसकी वजह से नेटफ्लिक्स आज 180 से अधिक देशों में अपनी सर्विस प्रदान कर रहा है।नेटफ्लिक्स ने हर देश में उनकी भाषा में वेब सीरिज़ व फ़िल्में बनाने के लिये वहाँ के बड़े स्टूडीयो व मीडिया हाऊस के साथ समझोते किये हैं और अपनी चर्चित फ़िल्मों को भी उनकी क्षेत्रीय भाषा में डब किया है।भारत में टिकने के लिये नेटफ्लिक्स ने 1000 करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश किया है।नेटफ्लिक्स को अपनी महँगी दरों के कारण कभी कभी आलोचना का सामना करना पड़ता है लेकिन शानदार कंटेंट,लाजवाब फ़िल्मों व अनूठी वेब सीरिज़ की बदौलत वह भारत में सब पर भारी पड़ रहा है।आप नेटफ्लिक्स की ताक़त का इस बात से भी पता लगा सकते हैं कि होटस्टार की ग्राहक संख्या के आधे होने के बावजूद नेटफ्लिक्स ने उससे 20 गुणा अधिक कमाई की है।

OTT -  ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

अमेजन प्राईम भारत में प्रचलित तीसरा बड़ा सेवा प्रदाता है।इस OTT प्लेटफ़ार्म में उसे सबसे बड़ा फ़ायदा उसकी मूल कम्पनी अमेजन से मिला है।भारत की सबसे बड़ी आनलाइन कम्पनियों में शुमार अमेजन के पास करोडो की ग्राहक संख्या है।जिनका वह अमेजन प्राईम में सदुपयोग कर रहा है। प्राईम के पास बालीवुड की तमाम बड़ी फ़िल्मों के प्रसारण अधिकार हैं व उसने वेब सीरिज़ बनाने के लिये भी बड़ी बड़ी कम्पनियों के साथ समझोते किये हैं।प्राईम पर 2500 से ज्यादा मूवीज़ व 400 शोज़ उपलब्ध है।अमेजन प्राईम भारत में मूल फ़िल्म सामग्री बनाने के लिये 2000 करोड़ से ज्यादा का निवेश कर इस दौड़ में सबसे आगे निकलने की कोशिश में है।जिसमें उसने अपने ग्राहकों को 2018 में लांच म्यूजिक सर्विस को फ़्री में उपलब्ध करवाया है और अमेजन पर शापिंग करने पर डिलिवरी भी फ़्री में दी जाती है।और अनेको फ़ायदे भी प्राईम द्वारा उपलब्ध करवाये जा रहे हैं।

OTT -  ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

जियो टीवी ने अपनी जियो फ़ाइबर के ज़रिये नये ग्राहकों को फ़्री सेट टाप बोक़्स देकर अपनी एंड्रोईड़ आधारित मीडिया स्ट्रीमिंग सर्विस की शुरुआत की है। जियो STB के नाम से ज्ञात इस सेट टाप बोक़्स में जियो टीवी, होट स्टार,voot, zee5, और sun NXT जैसे स्ट्रीमिंग एप प्री इंस्टाल आते हैं।अपने ग्राहकों को जियो केबल टीवी व OTT दोनों को एक साथ देखने की सुविधा प्रदान करता है।लेकिन सीमित संख्या व ज्यादा विकल्प न होने के कारण जियो अभी अपने दर्शकों को प्रभावित नहीं कर पाया है।जियो ने निकट भविष्य में OTT सामग्री सेवा प्रदाताओं के साथ नई साझेदारी की घोषणा करने की योजना बनाई है,जिससे अधिकाधिक लोगों तक पहुँचा जा सके।

OTT -  ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

OTT प्लेटफ़ार्म की बढ़ती लोकप्रियता ने कई क्षेत्रीय भाषा दिग्गजों को भी बहुत प्रभावित किया है।इसी कड़ी में पिछले वर्षों में बंगाली भाषा में होईचोई नाम से OTT एप आ चुका है,जिसमें बंगाली भाषा में नये शोज़ व फ़िल्मों को डब कर दिखाया जा रहा है और कई नई फ़िल्मों का निर्माण किया जा रहा है।इसके अलावा सन टीवी ने भी चार क्षेत्रीय भाषाओं में SUN NXT के नाम से क्षेत्रीय OTT सेवा की शुरुआत की है।दर्शकों ने इस पर बहुत सकारात्मक प्रतिक्रिया दिखाई है। भारत में OTT का भविष्य बहुत उज्ज्वल है। 2020 तक भारत में OTT उपयोगकर्ताओं की संख्या 500 मिलियन तक पहुँच जायेगी और भारत विश्व में अमेरिका के बाद दूसरा बड़ा देश बन जायेगा। धन्यवाद व जय हिन्द

Leave a Reply