MOTHERS DAY – तुझे सब है पता,मेरी माँ

MOTHERS DAY – तुझे सब है पता,मेरी माँ

माँ वो मखमली अहसास है जिसे शायद शब्दों में व्यक्त करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है।हर वक़्त आपके साथ रहने वाली और बिना कहे आपकी हर समझने वाली माँ ही वह शख़्सियत है जो मातृत्व को सही मायनों में चरितार्थ करती है।माँ ईश्वर की तरफ़ से हमें प्रदान किया गया वह अमूल्य उपहार है,जिसे हम कभी भुला नहीं पायेंगे। दुखः में, तकलीफ़ में और किसी भी मुसीबत की घड़ी में,अगर हमारे मुँह से एक ही शब्द निकलता है,तो वो माँ है।

MOTHERS DAY - तुझे सब है पता,मेरी माँ

मदर्स डे दुनिया भर में,हर वर्ष मई महीने के दूसरे रविवार को पूरे सम्मान से व माँ के प्रति अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है।वैसे तो माँ के प्रति अपने प्यार व संवेदनाओं को प्रकट करने के लिये किसी ख़ास दिन की ज़रूरत नहीं होती है।लेकिन मदर्स डे पर हम अपनी भावनायें खुल कर प्रकट कर सकते हैं। मदर्स डे की शुरुआत अमेरिका के वर्जीनिया में रहने वाली एना जार्विस नामक महिला ने की थी।अपनी माँ से बेइंतहा प्यार करने वाली एना ने अपनी माँ के निधन के पश्चात उनके सम्मान में इस ख़ास दिन की शुरुआत की थी। कुछ ही वर्षों में इस दिन को दुनिया भर में इतना महत्व मिला की एना के किये गये इस कार्य को लोग दिल से सलाम कहने लगे।हालाँकि इस पवित्र दिन का व्यवसायीकरण करने से एना नाराज़ थी।

MOTHERS DAY - तुझे सब है पता,मेरी माँ

माँ एक ऐसा शब्द है जिसकी जगह इस सृष्टि में कोई नहीं ले सकता है।माँ का नाम सामने आते ही उसका मातृत्व व करुणा से ओत प्रोत चेहरा सामने आ जाता है।माँ का अपने बच्चों से रिश्ता दुनिया में तमाम रिश्तों से ऊपर है।बिना माँ के ये जग सूना सूना लगता है।स्याही ख़त्म हो गयी माँ लिखते लिखते,उसके प्यार की दास्तान इतनी लम्बी थी। माँ के प्यार का क़र्ज़ कभी भी चुकाया नहीं जा सकता है।आज के इस दौर में माँ को उपहार व भौतिक चीज़ों से ज्यादा भावनात्मक सहारे की ज्यादा ज़रूरत है।हम माँ को प्यार व सम्मान का तोहफ़ा देकर ही मदर्स डे की सच्ची भावना को चरितार्थ कर सकते हैं। धन्यवाद व जय हिन्द

Leave a Reply