DREAMS – अपने सपनों का पीछा कैसे करें ?

इन्सान हर दिन एक नया सपना देखता है और अपने हर सपने को हक़ीक़त में बदलना चाहता है।बन्द आँखों से देखे जाने वाले सपनों की तुलना में,खुली आँखों से देखे…

TOYS – खिलौनों की सुनहरी दुनिया

आज के एकल परिवारों में बच्चों का जीवन बहुत ही शान्त व अकेलेपन से गुज़र रहा है।इस तेज रफ़्तार व आपाधापी से भरपूर जीवन में माँ बाप अपने बच्चों को…

HOW TO CELEBRATE LIFE – ज़िन्दगी को कैसे जियें

इस संसार में मनुष्य का आना व जाना एक शाश्वत सत्य है।उतना ही सत्य, जितनी ये प्रकृति,ब्रह्माण्ड और ईश्वर है।जबसे इस सृष्टि की रचना हुई है,यह प्रक्रिया निरंतर जारी है।…

NEPOTISM – बॉलीवुड का काला सच

दुनिया की सबसे बड़ी फ़िल्म इंडस्ट्री व सपनों की नगरी मुंबई, जहाँ हर वर्ष लाखों लोग अपना भविष्य सँवारने व सपने पूरे करने के लिये क़दम रखते हैं। चमक दमक…

LIFE PARTNER – जीवन साथी का चुनाव

सदियों से समाज में शादी को एक पवित्र रिश्ते के रूप में स्वीकारा जाता है।एक ऐसा रिश्ता जो परस्पर प्यार व विश्वास पर टिका हो, जिसमें जीवन साथी सहजता से…

SINGLE SECTOR मतलब इकॉनोमी का बँटाधार

दुनिया भर में कोरोना के शिकंजे में फँसें देश लम्बे लॉकडाउन से अपनी अर्थव्यवस्था को बचाने के लिये जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं। लॉकडाउन ने इन देशों की आय…

SPIRIT OF SERVICE – सेवाभाव से भरी दुनिया

आज हम अपने आसपास नज़र दौड़ायें तो दुनिया में ग़रीबी, भुखमरी, बीमारी व साधनों की कमी के अनेकों उदाहरण सामने दिखाई पड़ते हैं।जहाँ इन ग़रीब व्यक्तियों के लिये दो वक़्त…

DONALD TRUMP – क्या दोबारा राष्ट्रपति बन पायेंगे ?

दुनिया के सबसे पुराने लोकतन्त्र अमेरिका में हर चार साल बाद राष्ट्रपति का चुनाव किया जाता है।अमेरिका में जन्म लेने वाला हर अमेरिकी नागरिक,जिसकी आयु कम से कम 35 वर्ष…

CHILDHOOD – पिंजरे में क़ैद बचपन

बचपन का नाम सामने आते ही मासूम व निर्मल चेहरे वाले बच्चे आँखों के सामने घूमने लगते हैं।उत्साह व भोलेपन से भरपूर बच्चे हमारे आसपास मँडराते रहते हैं और जीवन…

solo traveller

SOLO TRAVELLER – सोलो ट्रैवलर की रोमांचकारी दुनिया

सोलो ट्रैवलर (Solo Traveller) अर्थात अकेले घूमने वाले यात्री, प्रत्येक व्यक्ति यात्रा से प्यार करता है और ज़िंदगी की भागदौड़ व कश्मकश से दूर कुछ पल चैन से बिताना चाहता…

RELIGION – धर्म के मायने

धर्म (Religion) जितना छोटा शब्द है उतने ही उसके गहरे अर्थ हैं।धर्म ज़िंदगी जीने का एक तरीक़ा है। दुनिया में सभ्यता की शुरुआत से ही हमें धर्म की शिक्षा प्रदान…

OZONE LAYER – ओज़ोन परत

दुनिया भर के इंसानों में एक आदत समान रूप से पायी जाती है की पहले वह किसी भी नई सुविधाजनक वस्तु का जमकर उपयोग व दोहन करेंगे और उसे दुनिया…

EID UL-FITR – ईद उल-फितर

जब पूरी दुनिया में इंसानियत तार तार हो रही हो, धर्म के नाम पर इंसान एक दूसरे के दुश्मन बन जायें और अपने धर्म को सर्वश्रेष्ठ साबित करने के लिये…

ONE BELT ONE ROAD – चीन की डूबती नैया

वन बेल्ट वन रोड जिसे संक्षिप्त में ओबीओआर भी कहा जाता है,चीन की वह महत्वाकांक्षी योजना है जिसमें पुराने सिल्क मार्ग के आधार पर एशिया, अफ़्रीका व यूरोप के क़रीब…

MOTHERS DAY – तुझे सब है पता,मेरी माँ

माँ वो मखमली अहसास है जिसे शायद शब्दों में व्यक्त करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है।हर वक़्त आपके साथ रहने वाली और बिना कहे आपकी हर समझने वाली माँ…

BUDDHA – बुद्धम शरणम गच्छामि

भगवान गौतम बुद्ध जिन्होने पूरी दुनिया को सत्य व सच्ची मानवता का पाठ पढ़ाया और अहिंसा व सदाचार अपनाने के लिये प्रेरित किया।भगवान बुद्ध ने जीवन जीने के मायने कुछ…

HUNGER – भूखमरी से निजात कब ?

दुनिया भर में इन्सान ने अपनी तरक़्क़ी व ख़ुशहाली के नए आयाम स्थापित किये हैं।जहाँ एक तरफ़ गगन चूमती इमारतें, शानदार टेक्नोलॉजी और दौलत के अथाह भण्डार से दुनिया की…

SUCCESS – कामयाबी की पहचान

सक्सेस यानि कामयाबी, जब इन्सान अपने क्षेत्र में सफलता हासिल करने के लिये कड़ी मेहनत व दृढ़ निश्चय से,अपने चुने हुए लक्ष्य को प्राप्त कर लेता है तो उसे ही…

THOUGHT – विचार बनाये जीवन

विचार एक सोचने की शक्ति या प्रक्रिया है।हमारे दिमाग़ में हर पल उमड़ने वाले विचार ही हमारे जीवन के भाग्यविधाता हैं। विचार को हम दो तरह में विभाजित कर सकते…

CHINA – दुनिया का विरोध क्या झेल पाएगा चीन ?

सन 2040 तक अमेरिका को पीछे धकेल कर विश्व की एकमात्र महाशक्ति बनने के चीन के सपने को कोरोना वायरस ने तोड़ कर रख दिया है और दुनिया की तीसरी…

AMERICA – नया अमेरिका कितना सक्षम ?

दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था, सबसे बड़ी सैन्य शक्ति व वैश्विक व्यापार केन्द्र का मालिक सुपर पॉवर अमेरिका आज घुटनों के बल आ चुका है। वैश्विक बीमारी कोरोना ने उसे…

NORTH KOREA – क्या तानाशाह का पतन निश्चित है ?

उत्तर कोरिया के क्रूर और सनकी शासक किम जांग उन को दिल की बीमारी से गंभीर रूप से बीमार होने व सर्जरी के बाद उनकी हालत बिगड़ने की अपुष्ट ख़बरें…

MOVIES – लॉकडाउन में फ़िल्मों का शटर डाउन

क़ोरोना संकट काल में इस बीमारी ने पूरी दुनिया की नींद उड़ा रखी है। इस वायरस से बचने के लिये पूरे विश्व को लॉकडाउन होने पर मजबूर कर दिया है।लॉकडाउन…

GREETINGS – अभिवादन ( दिलों को जोड़ने की कला )

प्राचीन काल से ही पूरे विश्व में मानव समाज में एक दूसरे से मिलने पर अपनी उपस्थिति को अवगत कराने व दूसरे की उपस्थिति को स्वीकारने के लिये कुछ शब्दों…

POVERTY – ग़रीबी की मार दुनिया लाचार

हम अपने आसपास नज़र दौड़ायें तो बड़ी ही विस्फोटक स्थिति नज़र आती है।आज दुनिया दो भागों में बँट चुकी है।एक तरफ़ अमीर वर्ग,जिसके पास दुनियाभर की तमाम सुविधाएँ,पैसा व पावर…

OTT – ओटीटी ( भारत में डिजिटल आज़ादी की शुरुआत )

आज दुनिया एक वैश्विक गाँव ( global village ) के रूप में काम कर रही है।दुनिया के किसी सुदूर देश में घटी घटना कुछ ही पलों में पूरी दुनिया में…

WEBINAR – इवेंट मार्केटिंग का गुरु

अगर आप दुनिया के किसी भी हिस्से में बैठ कर अपने व्यवसाय या ब्रांड की रणनीति बनाने व प्रशिक्षण देने के लिये,दुनिया भर में फैले अपने कर्मचारियों या छात्रों से…

DHARAVI – धारावी का उजला पक्ष

मुम्बई स्थित धारावी को एशिया का सबसे बड़ा झुग्गी झोंपड़ी वाला स्लम एरिया माना जाता है।तमाम तरह की नकारात्मक ख़बरें इस स्लम एरिया को सुर्ख़ियों में बनाये रखती है। मुम्बई…

NEW YORK – सपनों के शहर को किसकी लगी नज़र ?

न्यूयार्क, सिर्फ़ अमेरिका का सर्वाधिक जनसंख्या वाला महानगर ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिये व्यापार,संस्कृति,फ़ैशन व मनोरंजन का केंद्र है। फ़ैशन कैपिटल के नाम से मशहूर इस महानगर में…

DR.BHIM RAO AMBEDKAR – डॉ.भीमराव अम्बेडकर

हमें अपना रास्ता स्वयं बनाना होगा।कोई भी राजनैतिक शक्ति हमारी समस्याओं का समाधान नहीं कर सकती है।हमारा कल्याण हमारे समाज के हाथों में ही निहित है।हमें अपने रहने का तरीक़ा…

MEDITATION – ध्यान की शक्ति

आज की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में इंसान इतना व्यस्त है की वह चाहकर भी अपने लिये, घर-परिवार के लिये व अपने समाज के लिये समय नहीं निकाल पा रहा है।जीवन…

RACIAL DISCRIMINATION – अमेरिका में नस्लीय भेदभाव

सभ्यता के प्रारम्भ से सफल इन्सानों में अपने आपको श्रेष्ठ समझने की अवधारणा पाई जाती है।अपने को श्रेष्ठ व आर्थिक रूप से ताक़तवर मानते हुए ऐसे इंसानों ने अपने फ़ायदे…